पाद एक रहस्ये है – आइये जानिये क्यों और कैसे…….?

paad k fayde

 

ज़िंदगी में हमें तरह-तरह की स्थितियों Situations का सामना करना पड़ता है। इन्हीं में से एक है पाद का आना। जब चार लोग एक ग्रुप में बैठे हों और कहीं से गन्दी बदबू Bad odor आ जाए तो सब एक-दूसरे पर इस तरह शक doubt करने लगते हैं। मानो किसी ने गैस पास नहीं की हो बल्कि किसी का खून कर दिया हो। और तो और कुछ लोगों का व्यवहार Behavior तो ऐसा होता है मानो उनके पेट में गैस बनती ही नहीं है। इस हालत में गैस पास करने वाला आदमी भी ऐसा व्यवहार करने लगता है कि उसने कुछ नहीं किया है। कारण reason कि इतनी शर्मिंदगी Embarrassment कौन झेले।

 

इस बीच कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो धीरे-धीरे से गैस पास कर देते हैं। कुछ ऐसे भी होते हैं जो शर्मिंदगी से बचने To escape के लिए लम्बे समय तक पाद को रोककर With holding रखते हैं। मगर एक्सीटर यूनिवर्सिटी Exciter university में हुए अध्ययन study में सामने आया है कि पेट में बनने वाली गैस को जबरन Forcibly रोककर नहीं रखना चाहिए। इसका नुकसान है। इसके उलट गैस पास करने के फायदे हैं। आज बात उन्हीं कुछ बिंदुओं पर।

जब कोई इंसान पादता है, तब उसके शरीर से निकलने वाली गैस में सामान्‍य तौर पर 59% नाइट्रोजन, 21% हाइड्रोजन, 9% कार्बन डाईऑक्‍साइड, 7% मीथेन, 4% ऑक्‍सीजन और सिर्फ 1% सल्‍फर युक्‍त गैस शामिल होती है।

 

पाद से दुर्गन्ध क्यों आती है:-

हमारी डाइट में मौजूद सल्फर  Present sulfur ही पाद से आने वाली बदबू की मुख्य वजह होती  है। पत्‍तागोभी, बीन्‍स, चीज, सोडा और अंडे आदि में सल्फर मौजूद होता है। इनके सेवन से हमारे शरीर में ज्यादा बदबूदार More smelly गैस बनती है।

paad

पादना क्या बुरी आदत है:-

बचपन से आपको सिखा दिया गया है कि यह बुरा Bad है तो आप ने मान लिया कि बुरा है और ऐसा पीढ़ी-दर-पीढ़ी generation by generation हुआ है इसलिए आज तक किसी महापुरुष की जीवनी में उनके किए तमाम गैर जरूरी कामों में उनके पादने का जिक्र नहीं मिलता इसलिए आप ने यह मान लिया है| कि पादना बुरा है लेकिन सच इससे बिल्कुल उलट है, पादना सेहत लिए अच्छा है| यह बताता है कि आप पर्याप्त मात्रा में फाइबर Fiber खा रहे हैं और आपके शरीर में बैक्टीरिया Bacteria की अच्छी संख्या मौजूद है|
पादने पर बदबू क्यों आती है:-
कुछ खाने पीने की चीजें ऐसी होती हैं जिनमें सल्फर होता है जब शरीर इस सल्फर को तोड़ता है तो हाइड्रोजन सल्फाइड Hydrogen sulphide गैस निकलती है| इस गैस की गंध सड़े हुए अंडे जैसी या उससे कुछ बुरी, आप जानते ही हैं| अगर आपके खाने में सल्फर है तो आपकी पाद से बदबू जरुर आएगी जान लीजिए कि  आपके टूथपेस्ट Toothpaste में नमक हो ना हो पर खाने में सल्फर जरूर होना चाहिए|

सेहत के लिए अच्छा होता है यह बदबू सूंघना

पाद में हाइड्रोजन सल्फाइड की वजह से बदबू आती है हाइड्रोजन सल्फाइड ज्यादा मात्रा में हानिकारक हो सकती है, लेकिन 2014 में मेडिसिनल केमिस्ट्री कम्युनिकेशनस  communications नाम की एक जर्नल में छपी यूनिवर्सिटी ऑफ एक्सटर University of exciter की रिसर्च में यह दावा किया गया कि बहुत छोटी मात्रा में (मिसाल के लिए जितनी पाद ने में से निकलती है) हाइड्रोजन सल्फाइड माइट्रोकांड्रिया Mitrocondria को होने वाले नुकसान से बचा सकती है माइट्रोकांड्रिया हमारे शरीर में मौजूद सेल Cell का पावर हाउस होता है| इस आधार पर रिसर्च Research में संभावना जताई गई कि हाइड्रोजन सल्फाइड के माइट्रोकांड्रिया पर असर के बारे में और जानकारी इकट्ठा होने पर लकवे, अर्थराइटिस और दिल की बीमारी का बेहतर इलाज हो पाएगा| इस खोज का जिक्र टाइम मैगजीन के जुलाई 2014 अंक में भी था|

Other Related Link / इन्हें भी पढ़े:-

  1. जानिए पेट में गैस बनने की वजह और घरेलू इलाज
  2. बेहतरीन नुस्खे: पेट की जलन और एसिडिटी को करे दूर

 

fart

 

ज्यादा गंध वाली पाद भी ठीक नहीं है:-

पाद वो गैस है जो हमारे शरीर में कुछ देर रह कर निकली है अगर आपकी पाद बेहद बदबूदार है| तो आपकी सेहत खराब है या डाइट पटरी से उतर चुकी है, यह बात हाजमा digestion खराब होने से आगे पहुच सकती है| बेहद बदबूदार पाद लेक्टोस एलर्जी Lactose allergy की निशानी हो सकती है गंभीर मामलों में बात कोलान कैंसर Colon cancer तक जा सकती है|

बिना गंध वाली पाद:-

कभी-कभी शरीर सिर्फ वह हवा बाहर निकाल रहा होता है जो खाते-खाते शरीर में चली जाती है| तो इसमें हाइड्रोजन सल्फाइड Hydrogen sulphide नहीं होती, इस तरह की पाद में बदबू नहीं होती यह डकार Dakar की तरह ही होती है बस शरीर की दूसरी तरफ से बाहर निकल जाती है|

आवाज और बेआवाज़ पाद:-

पादते वक्त गैस की मात्रा और शरीर के पास्चर Pasteure के आधार पर होता है की पादने में आवाज होगी या नहीं तो दोनों तरह की पाद नॉर्मल Normal है, पाद ने में यह अकेली चीज है.जिसका आपकी सेहत से ताल्लुक Connection नहीं है बस इतना है कि आवाज के डर से जो लोग पाद को कंट्रोल करते हैं उन्हें ज्यादा देर तक ऐसा नहीं करना चाहिए|

लड़कियां  भी पादती  है:-

पादना एक सामान्य क्रिया है लेकिन साफ सफाई के कुलीन कान्सेप्ट Elite concept के तहत इसे शर्म से जोड़ दिया गया है| इसलिए लड़के तो एकबारगी मान भी लें, लड़कियों से यही अपेक्षा होती है कि वह लाज शर्म रखें,पादने जैसी छिछली  Mustache बातें करने से झिझके Hesitant या फिर यह कह दे कि नहीं| हमारे शरीर में तो गैस बनती ही नहीं|
विज्ञान कहता है लड़कों की तरह लड़कियां भी पादती हैं,और उनके जितना ही पादती हैं लेकिन उनकी कंडीशन इस तरह की कर दी गई है कि वह लड़कों की तरहा खुलकर इस बारे में कुछ कहती नहीं|

तो अब आप जान गए कि पाद हल्की जरूर होती है लेकिन इसे हल्के में लेने की जरूरत बिल्कुल ना करें|

 

 

 

Note: कृपया लईक, कमेन्ट, और शेयर जरूर करे कियोंकि आपका फीड बेक ही हमारा परोत्साहन बढ़ता हे जिसे हम नईनई जानकारियां एकत्रित कर आप तक पहुंचाते है

 

 

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply

Powered by WordPress and MagTheme
%d bloggers like this: